31
May-2016

Heat Stroke Treatment In Hindi With Video By Sachin – लू लगने के उपचार

Heat Stroke Treatment In Hindi

दोस्तों! गर्मी भरे इस मौसम में आज का यह पोस्ट लू लगने के प्राकृतिक एवं घरेलू उपचारों (heat stroke treatment) से आपको अवगत कराएगा. गर्मियों में लू लगना (heat stroke) एक आम बात है लेकिन हमेशा ध्यान रखें कि इसके उपचार में देरी नहीं होनी चाहिए.

गर्मी के कारण जब शरीर का तापमान बढ़कर 40° C यानि 105° F से ज़्यादा हो जाता है तो इसे ही “लू लगना (heat stroke)” कहते हैं. गर्मियों में चलने वाली गर्म हवाओं और तेज़ धूप (sunstroke) से सीधे संपर्क में आने पर शरीर का तापमान भी बढ़ने लगता है.

पहले तो शरीर का cooling system शरीर को ठंडा करने की कोशिश करता है लेकिन गर्मी ज़्यादा होने के कारण system धीमा पड़ जाता है और शरीर गर्म होने लगता है. समय पर इसका इलाज नही होने पर हमारे शरीर के किसी भी ऑर्गन के फंक्शन में रुकावट पैदा होना, कोमा की स्थिति या मौत का कारण भी बन सकती है. इसीलिए आयुर्वेद में भले ही इसे कोई बीमारी नहीं माना गया है लेकिन इसे आपातकालीन स्थिति माना जाता है.

लू लगने के लक्षण (heat stroke symptoms):

लू लगते ही तुरंत शरीर को पानी और हवा से ठंडा करने की कोशिश करनी चाहिये ताकि शरीर का cooling system फ़ेल ना हो जाये. जब शरीर का तापमान थोड़ा कम आने लगे (लगभग 102° F या और कम) तब नीचे पोस्ट में शेयर किये गए घरेलू उपचार किये जा सकते हैं जो कि बेहद आसान परन्तु कारगर साबित होते हैं.

लू लगने के घरेलू उपचार (Heat Stroke Treatment) – वीडियो

लू लगने के घरेलू उपचार (Heat Stroke Treatment) – 1

लू लगने पर कच्चा आम यानि कैरी बहुत तेजी से फायदा करती है.

  • 1 कैरी को उबालकर ठंडा करके उसका गूदा निकालकर उसी उबले हुए पानी के साथ मैश कर लीजिये.
  • इसमें 30 ग्राम चीनी, 1 चम्मच जीरा पाउडर, 1/2 कप पुदीने की ताज़ा पत्तियाँ, 1/4 चम्मच काली मिर्च पाउडर और स्वाद के लिये नमक मिला लीजिये.

Raw mango water

कैरी की इस छाछ की 100 मिली. मात्रा रोज़ाना दिन में 3 बार पीनी चाहिये. इससे बहुत ही तेजी से लू में फायदा मिलता है और तबीयत ठीक हो जाती है.

लू लगने के घरेलू उपचार (Heat Stroke Treatment) – 2

अगर लू लग जाये तो नीबू तुरंत काम में लेना चाहिये.

  • 200 मिली. पानी में 1/2 नीबू निचोड़ लीजिये.
  • इसमें 2 चम्मच चीनी अच्छी तरह मिला लीजिये.

Lemon water

नीबू के इस पानी को रोज़ाना दिन में 1 से 2 बार तक पीना चाहिये. इससे लू में बहुत जल्दी फायदा मिलता है.

लू लगने के घरेलू उपचार (Heat Stroke Treatment) – 3

प्याज लू लगने पर भी और लू न लगे इसके लिये भी बहुत लाभदायक होता है.

  • लू लगने पर 1 प्याज के टुकड़ों को मिक्सी में डालकर थोड़े पानी के साथ पीस लीजिये.
  • फिर इसे चलनी की सहायता से छान लीजिये.
  • प्याज के इस रस को चेस्ट पर और कनपटी पर लगाना चाहिये.

Onion Juice

यह शरीर को ठंडक देता है और लू के प्रभाव को ख़त्म करता है जिससे बहुत जल्दी तबीयत ठीक हो जाती है. ऐसा माना जाता है कि गर्मियों के मौसम में बाहर निकलते समय जेब में 1 प्याज रख लेने से लू नहीं लगती है.

जिन लोगों को तेज़ गर्मी के मौसम में बाहर निकलना पड़ता है या जो लोग आग के संपर्क में ज़्यादा रहते हैं उनको लू लगने का खतरा सबसे ज़्यादा होता है. साथ ही छोटे बच्चों और 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लू लगने का खतरा ज़्यादा रहता है.

यदि तेज़ धूप में निकलना ही हो तो लू से बचने के लिये गीला रुमाल सर पर रख लेना चाहिये. साथ ही छाता लगाकर या टोपी पहनकर बाहर निकलना चाहिये ताकि शरीर जल्दी से ज़्यादा गर्म न हो जाये. जैसे ही त्वचा ज़्यादा गर्म लगने लगे तो तुरंत ठंडे पानी या बर्फ से उसे ठंडा कर लेना चाहिये. इस तरह लू से तुरंत बचाव हो जाता है.

आशा है कि लू से बचने और लू लगने पर किये जाने वाले सरल घरेलू उपचार (Heat Stroke Treatment) आपके लिये अवश्य ही बहुत फायदेमंद रहेंगे.

सम्बंधित लेख :

Share and Enjoy

  • Facebook
  • Twitter
  • Delicious
  • LinkedIn
  • StumbleUpon
  • Add to favorites
  • Email
  • RSS

0

 likes / 0 Comments
Share this post:

comment this post


Click on form to scroll
CommentLuv badge

Proove You Are A Human * Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Archives

> <
Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec
Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec