Thandai Recipe in Hindi

ठंडाई रेसिपी (Thandai Recipe) एक भारतीय पारंपरिक शीतल पेय रेसिपी है. इसका वर्णन आयुर्वेद में भी मिलता है जिसके अनुसार इसे प्रामाणिक तौर पर बादाम, पिस्ता, काली मिर्च, खसखस, खरबूजे के बीज, सौंफ, चीनी, दूध, केसर और इलायची से बनाया जाता है.

ठंडाई भारत में एक बहुत ही बढ़िया स्फूर्तिदायक पेय के रूप में भी जाना जाता है. साथ ही साथ इसे गर्मी और लू से बचाने वाला भी माना गया है जिसके कारण उत्तर भारत में यह एक बहुत ही अधिक पसंद किये जाने वाले पेय पदार्थों की रेसिपी में शामिल है.

भारत में शिवरात्रि और होली के त्यौंहार पर तो ठंडाई पीने-पिलाने का विशेष चलन है.

आइये आज इसी भारतीय पारंपरिक पेय ठंडाई की रेसिपी (thandai recipe) विडियो सहित विस्तार से देखते हैं.

Thandai Recipe in Hindi by Sonia Goyal - ठंडाई रेसिपी
Print Recipe
Servings Prep Time
40 गिलास 0 मिनट
Cook Time Passive Time
15 मिनट 20 मिनट
Servings Prep Time
40 गिलास 0 मिनट
Cook Time Passive Time
15 मिनट 20 मिनट
Thandai Recipe in Hindi by Sonia Goyal - ठंडाई रेसिपी
Print Recipe
Servings Prep Time
40 गिलास 0 मिनट
Cook Time Passive Time
15 मिनट 20 मिनट
Servings Prep Time
40 गिलास 0 मिनट
Cook Time Passive Time
15 मिनट 20 मिनट
Ingredients
आवश्यक मसाले व सूखे मेवे :
अन्य आवश्यक सामग्री :
Servings: गिलास
Instructions
ठंडाई रेसिपी विडियो (Thandai Recipe Video) :
ठंडाई रेसिपी : विस्तार से
  1. ठंडाई बनाने के लिये सबसे पहले सभी मसालों को 2 घंटे के लिये भिगोकर रख दीजिये.
  2. 2 घंटे बाद इस मिश्रण को मिक्सी में डालकर बारीक पेस्ट बना लीजिये.
  3. अब एक बर्तन में चीनी और पानी डालकर 10 मिनट तक मध्यम आँच पर पकने दीजिये.
  4. पके हुए चीनी के घोल में मसालों का पेस्ट डालकर 5-7 मिनट और पकने दीजिये. इसे हमें शहद जितना गाढ़ा रखना है.
  5. अब इसमें केसर, इलायची और गुलाब जल डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये.
  6. ठंडाई बनकर तैयार हो गई है. इसे आंच से उतार लीजिये.
  7. जब ये ठंडी हो जाये तो इसे साफ़ और सूखी बोतल में भरकर फ्रिज़ में रखें. आप ये ठंडाई 1 महीने तक काम में ले सकते हैं.
  8. ठंडाई परोसने के लिए एक ग्लास में 4 चम्मच (या स्वाद अनुसार) ठंडाई, दूध और बर्फ डालकर ठंडा ठंडा परोसिये.
Recipe Notes
  1. यदि आप ठंडाई फ्रिज में नहीं रखना चाहते हैं, तो इसमें आपको फ़ूड प्रिसरवेटिव डालना होगा, अन्यथा यह 3 दिन में ख़राब हो जायेगी.
  2. यदि मसालों और सूखे मेवों का पेस्ट एकदम बारीक नहीं पिसा हो तो आप ठंडाई को बोतल में भरते समय छान सकते हैं.

पारंपरिक भारतीय शीतल पेय ठंडाई बनाइये और अपने अनुभव यहाँ लिख भेजिये.

Author: Sonia Goyal
Share this Recipe
 

Share and Enjoy

  • Facebook
  • Twitter
  • Delicious
  • LinkedIn
  • StumbleUpon
  • Add to favorites
  • Email
  • RSS

0

 likes / One comment
Share this post:

Archives

> <
Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec
Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec